Wholesale Sports Jerseys Cheap Sports Jerseys Cheap Jerseys USA
गर्भावस्था इंजेक्शन चार्ट और उसके फायदे व नुकसान

गर्भावस्था इंजेक्शन चार्ट और उसके फायदे व नुकसान

आप इस बात से तो सहमत ही होंगी कि जब आप गर्भवती  होती हैं तो आप अपने बच्चे के साथ हर चीज़ शेयर करती हैं। इसका मतलब है कि जब आप इंजेक्शन भी लगवाती हैं तो आप सिर्फ अपनी ही सुरक्षा नहीं करती बल्कि आप अपने बच्चे को भी सुरक्षा देती हैं गर्भावस्था इंजेक्शन चार्ट फॉलो करके|

इसीलिए आपको अपने और अपने बच्चे की सुरक्षा के लिए गर्भावस्था के दौरान अलग अलग बीमारियों से बचने के लिए इंजेक्शन लगवाने की सलाह दी जाती है। फिर ये इंजेक्शन चाहे आपको गर्भ ठहरने से पहले या गर्भावस्था के दौरान या फिर गर्भावस्था के बाद ही क्यों न दिए जाएँ| कुछ इंजेक्शन जैसे कि मम्प्स, रूबेला और मीज़ल्स आदि तो गर्भ ठहरने के एक महीने के अन्दर ही ले लेने की सलाह दी जाती है|

अन्य कई तरह के इंजेक्शन जैसे फ्लू, टीडैप, हेपेटाईटिस बी आदि गर्भावस्था के दौरान लिए जाते हैं| यह सब इंजेक्शन बच्चा हो जानने के बाद या बच्चे को दूध पिलाने के दौरान लेना सुरक्षित भी होता है लेकिन फिर भी एक बार ये सब इंजेक्शन लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए|

प्रेगनेंसी में टीकाकरण के नुक्सान | Disadvantages of Vaccination in Pregnancy

बीमारियों से लड़ने वाले ये इंजेक्शन तीन तरह के मिलते हैं जैसे लाइव वायरस, डेड वायरस और टोक्सोइड्स| प्रेगनेंसी में लाइव वायरस वाला इंजेक्शन देने से बच्चे को नुक्सान होने का खतरा बढ़ जाता है| इसलिए लाइव वायरस वाले इंजेक्शन प्रेग्नेंट महिला को नहीं दिया जाने चाहिए|

अन्य इंजेक्शनों में हेपेटाईटिस ए के इंजेक्शन को प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं माना जाता| इसी तरह खसरा, मम्प्स और रूबैला जैसे इंजेक्शन लेने के एक महीने तक रुकने के बाद ही प्रेग्नेंट होने के बारे में सोचना चाहिए| ओपीवी और आईपीवी जैसे इंजेक्शन भी प्रेगनेंसी में उपयोग नहीं करने चाहिए|

Also Read: डायबिटीज के लक्षण

गर्भावस्था इंजेक्शन चार्ट के फायदे | Benefits of Pregnancy Injection Chart In Hindi

हमने आपके लिए गर्भावस्था इंजेक्शन चार्ट  तैयार किया है जिसकी मदद से आप यह जान सकते हैं कि गर्भ के नौ महीनों के दौरान हर महीने आप कौन कौन से इंजेक्शन ले सकते हैं| इस गर्भावस्था इंजेक्शन चार्ट को फॉलो करके आप सही समय पर अपना टीकाकरण पूरा कर सकते हैं|

इस गर्भावस्था इंजेक्शन चार्ट को देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें|

प्रेगनेंसी में टीकाकरण के साइड इफ्फेक्ट्स | Side Effects of Vaccination in Pregnancy

  • प्रेगनेंसी के दौरान कुछइंजेक्शन साइड इफेक्ट्स का कारण भी हो सकते हैं|
  • हेपेटाईटिस ए के इंजेक्शन की वजह से त्वचा पर सूजन और लाली के इलावा कुछ मामलों में थकान,एलर्जी और सिर दर्द भी हो सकता है|
  • हेपेटाईटिस बी के इंजेक्शन से त्वचा पर सूजन के साथ बुखार भी हो सकता है|
  • इन्फ्लुएंजा के इंजेक्शन से त्वचा पर लाली, सूजन और बुखार हो सकता है|
  • टिटनेस का इंजेक्शन सूजन, दर्द और हल्के बुखार का कारण हो सकता है|
  • ऍमऍमआर का इंजेक्शन चकत्ते,गर्दन और गालों की सूजन और जोड़ों के दर्द का कारण हो सकता है|
  • वैरिसेला का इंजेक्शन त्वचा पर लाली और दर्द के इलावा चकत्ते और सूजन का कारण हो सकता है|

यदि आपको भी इंजेक्शन लगवाने के बाद इनमे से कोई भी लक्षण दिखाई दे तो तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाएँ| प्रेगनेंसी में इंजेक्शन लगवाना माँ की इम्युनिटी को बढाने के साथ बच्चे को भी सुरक्षा देता है|

Back to Top
%d bloggers like this: